IPS अफसर पंकज चौधरी का एक इंक्रीमेंट रोका, नैनवा दंगा मामले में कार्रवाई
जयपुर

जयपुर | संघ लोक सेवा आयोग से ग्रीन सिग्नल मिलने के बाद शुक्रवार को राज्य सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा 2009 बैच के चर्चित अफसर पंकज चौधरी के खिलाफ कार्रवाई की है। उनका एक इंक्रीमेंट रोक दिया गया है। 

इससे भविष्य में उनके प्रमोशन पर भी असर पड़ेगा। पंकज चौधरी पर 12 सितंबर, 2014 को नैनवां के खानपुर में दंगे के दौरान घटना स्थल पर समय से नहीं पहुंचने का आरोप है। उस समय वे बूंदी के एसपी थे।

बूंदी के नैनवां स्थित खानपुर गांव में तोड़फोड़ व आगजनी की घटना से कानून-व्यवस्था इतनी बिगड़ गई थी कि वहां कर्फ्यू लगाना पड़ गया था। वहां 13 से 20 सितंबर 2014 के बीच कर्फ्यू रहा। तत्कालीन जिला एसपी पंकज चौधरी को कर्तव्यों के प्रति लापरवाही बरतने के आरोप में डेढ़ साल पहले चार्जशीट दी गई थी।

- चार्जशीट के मसले पर कार्मिक सचिव के यहां सुनवाई हुई। इसमें चौधरी की तरफ से पेश तर्कों से कार्मिक विभाग संतुष्ट नहीं हुआ। इसके बाद कार्मिक विभाग ने परनिंदा की कार्रवाई करने के लिए संघ लोक सेवा आयोग के पास प्रस्ताव भेजा था।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations