पांवटा साहिब (सिरमौर)
देश की पहली फाइटर पायलट ने यहां नवाया शीश, कहा- देश सेवा का मौका मिलना सौभाग्य

देश की प्रथम महिला फाइटर पायलट अवनि चतुर्वेदी ने कहा कि देश की सेवा का मौका मिलना बड़े  सौभाग्य की बात है। दिल में देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा रहा है। इसी लक्ष्य को सामने रख कर सपना साकार किया है। अवनि पांवटा साहिब गुरुद्वारा में शीश नवाने पहुंचीं।उनके साथ 4 अन्य पायलट भी मौजूद रहे। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पांवटा ने सिरोपा भेंट किया और गुरुद्वारा से जुड़ी पुस्तकें आदि भेंट कीं। गुरुद्वारा प्रबंधक कुलवंत सिंह चौधरी ने देश की प्रथम महिला फ्लाइंग अफसर को पांवटा का गौरवमयी इतिहास बताया। अवनि ने कहा कि गुरु की नगरी के बारे में सुना था।

प्रदेश के पड़ोसी राज्य में पहुंची थी। जिससे पांवटा गुरुद्वारा साहिब में शीश नवाने का सुअवसर मिल सका है। गौरतलब है कि फ्लाइंग अफसर अवनि चतुर्वेदी ने अकेले मिग-2 फ्लाइंग जेट उड़ाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। इससे पहले वह इंडियन एयरफोर्स के इतिहास में पहली महिला फाइटर बन चुकी हैं।

अवनि मध्य प्रदेश के रीवा की रहने वाली हैं। जून 2016 में वह एयरफोर्स के लड़ाकू स्क्वाड्रन में शामिल हुईं। हैदराबाद की एयरफोर्स अकादमी में ट्रेनिंग लेने वाली अवनि ने मध्य प्रदेश के शहडोल में पढ़ाई की है।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations