सियासी फायदे के लिए पंचकूला को जलने दिया: HC ने हरियाणा सरकार से कहा
चंडीगढ़.

चंडीगढ़. डेरा सच्चा सौदा चीफ राम रहीम को रेप मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद बिगड़े हालात को लेकर हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को कड़ी फटकार लगाई है। कहा- आपने राजनीतिक फायदे के लिए पंचकूला को जलने के लिए छोड़ दिया। कोर्ट ने यह भी कहा है कि डेरा की प्रॉपर्टी न तो बेची जाएगी और न ही ट्रांसफर होगी। बता दें कि इस मामले में सिक्युरिटी को लेकर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में दायर की गई पीआईएल पर सुनवाई हो रही है। मामले में अगली सुनवाई 29 अगस्त को होगी। कोर्ट में इतनी गाड़ियां कैसे आईं...

- शनिवार को कोर्ट ने डेरे की प्रॉपर्टी की जानकारी मांगी और कहा कि अब अगले आदेश तक न ही डेरा की प्रापर्टी बेची जा सकती है न ही ट्रांसफर होगी। 

- कोर्ट ने डिप्टी कमिश्नर्स से कहा है कि जो भी नुकसान हुआ है, उसे लेकर एक पब्लिक नोटिस जारी करें। नुकसान की जानकारी कोर्ट को दें।

- वहीं, एडवोकेट जनरल से सवाल किया कि पहले बताया गया था कि 5 गाड़ियां कोर्ट आएंगी, फिर बाबा का इतना बड़ा काफिला कैसे पहुंचा।? ज्यादा गाड़ियां कैसे पहुंची? डिटेल लेकर आएं कि डेरे की कितनी गाड़ियां कोर्ट पहुंची थी।

- शुक्रवार को राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पीआईएल पर सुनवाई हुई थी। तब हाईकोर्ट ने कहा था कि डेरामुखी का स्टेटस बदल गया है और स्टेट अपनी सोच बदले।

सिक्युरिटी के हालात को लेकर दायर की गई थी PIL

- राम रहीम पर रेप मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले से पंचकूला में भारी तादाद में उनके समर्थक जुटने लगे थे। ऐसे में हालात बिगड़ने की आशंका में यह पीआईएल लगाई गई थी।

- डेरा चीफ को सीबीआई कोर्ट ने शुक्रवार को रेप केस में दोषी करार दिया। इसके बाद हरियाणा-पंजाब समेत छह राज्यों में फैली हिंसा में 32 लोगों की मौत हो चुकी है। 250 से ज्यादा जख्मी हुए हैं। सजा का एलान 28 अगस्त को किया जाएगा।

डेरा की प्रॉपर्टी से हो नुकसान की भरपाई

- राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हरियाणा-पंजाब समेत 5 राज्यों में हिंसा, आगजनी और पथराव में पब्लिक प्रॉपर्टी का काफी नुकसान हुआ।

- इस पर हाईकोर्ट ने निर्देश दिया कि डेरा सच्चा सौदा की प्रॉपर्टी जब्त करके इस नुकसान की भरपाई की जाए।

कितना नुकसान हुआ?

- हिंसा में 30 लोगों की जान गई और 250 से ज्यादा घायल हुए। 350 ट्रेनें रद्द हैं। पंचकूला में सैकड़ों गाड़ियां जला दी गईं।

- सरकारी दफ्तरों में भीड़ घुस गई। मीडिया की ओबी वैन भी जला दी गईं। पंजाब के दो रेलवे स्टेशन मलोट और बल्लूआन में आगजनी की गई।

- पंचकूला के मानसा में इनकमटैक्स ऑफिस और संगरूर में तहसीलदार का दफ्तर जला दिया गया। दो पेट्रोल पंप फूंक दिए गए।

- हरियाणा में सिरसा समेत कई जगहों पर आगजनी और तोड़फोड़ की गई। दिल्ली में बसें और आनंद विहार स्टेशन पर रीवा एक्सप्रेस की दो बोगी फूंक दी गईं।

- वहीं, यूपी के गाजियाबाद में लोनी में बस फूंक दी गई। राजस्थान के श्रीगंगानगर में भी आगजनी और हिंसा हुई।

अब कोई रिस्क नहीं ले सकते

- हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस एसएस सारों, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस अवनीश झिंगन की बेंच ने शुक्रवार को कहा था कि वे जाट आंदोलन के दौरान हरियाणा में पुलिस के इंतजामों का आलम देख चुके हैं। अब कोई रिस्क नहीं लेना चाहते। ऐसे में पंचकूला में सभी ज्युडीशियल ऑफिसर्स को पैरा मिलिट्री फोर्स मुहैया कराई जाए। कोर्ट ने कहा कि राउंड दि क्लॉक यह सिक्युरिटी जारी रहेगी।

ड्यूटी से भागने वाले पुलिस अफसरों के नाम दें

- सुनवाई के दौरान कुछ वकीलों ने कहा कि पुलिसवाले पैरा मिलिट्री फोर्स के पहुंचने के बाद मौके से भागने लगे थे। इस पर हाईकोर्ट ने हरियाणा के एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन से सवाल किया कि इस कोताही के लिए कौन जिम्मेदार है? जिम्मेदार अफसरों पर जरूरी कार्रवाई की जाए। 

- हाईकोर्ट ने कहा कि एडवोकेट जनरल शनिवार को सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखें और बताएं कि क्या कोई पुलिस अफसर मौके से भागा था। अगर हां तो उसका नाम दिया जाए।

- हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि पंचकूला में कर्फ्यू के चलते अब हाईकोर्ट में मौजूद वकीलों और कोर्ट स्टाफ को सुरक्षित उनके घर

पहुंचाने का इंतजाम किया जाए।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations