ARMY के हेलिकॉप्टर में मोदी और नीतीश ने ऐसे समझे यहां के हालात
पटना.

पटना.महागठबंधन से अलग होकर एनडीए में शामिल होने के बाद सीएम नीतीश और प्रधानमंत्री की नजदीकी बढ़ गई है। कभी 

नरेंद्र मोदी

 के चलते बीजेपी का साथ त्यागने वाले नीतीश कुमार पुरानी बातों को भूल चुके हैं। शनिवार को पूर्णिया के चूनापुर एयरपोर्ट पर दोनों नेता पूरी गर्मजोशी से मिले। मुख्यमंत्री बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वे करने आए प्रधानमंत्री का स्वागत करने पहुंचे थे। मोदी ने नीतीश से हाथ मिलाया और कुछ सेकेंड तक उनका हाथ थामे रखा। नीतीश ने की मैप देखने में मदद...

- यहां से नरेंद्र मोदी नीतीश कुमार के साथ एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वे करने निकले। 

- हेलिकॉप्टर में नरेंद्र मोदी और नीतीश आमने- सामने बैठे थे। इस दौरान नीतीश ने बाढ़ प्रभावित जिलों का मैप देखने में प्रधानमंत्री की मदद की। 

- करीब 50 मिनट तक दोनों नेता पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज और अररिया जिले का हवाई सर्वे करते रहे। 

- इस दौरान नीतीश ने पीएम को बताया कि बाढ़ ने इन जिलों में किस कदर तबाही मचाई है। बाढ़ का पानी भले ही कई जगह कम हो गया हो, लेकिन पानी से घिरे गांव और टूटी सड़कें तबाही की कहानी बयां कर रहीं थी।

हर संभव मदद करेगी केंद्र सरकार

- एरियल सर्वे के बाद पूर्णिया के गेस्ट हाउस में प्रधानमंत्री ने बिहार सरकार के विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। 

- बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी शामिल थे। मीटिंग में बिहार सरकार की ओर से प्रधानमंत्री को बाढ़ से हुए नुकसान की जानकारी दी गई। 

- प्रधानमंत्री ने 500 करोड़ रुपए की सहायता देने के साथ कहा कि केंद्र सरकार बिहार सरकार की हर संभव मदद करेगी। नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया कि मृतक के परिवार को 2 लाख रुपए और गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 50 हजार रुपए की सहायता दी जाएगी।

- बाढ़ से प्रभावित इलेक्ट्रिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की शीघ्र बहाली के लिए केन्द्र की ओर से राज्य सरकार को हर संभव मदद मिलेगा। 

- पीएम ने बाढ़ से प्रभावित सड़कों की मरम्मत के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय को उपयुक्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने बाढ़ से हुए नुकसान के आकलन के लिए एक सेंट्रल टीम भेजने का आश्वासन दिया।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations