सिरफिरे आशिक ने प्रेमिका सहित 7 को जिंदा जलाया, 3 की मौत और 4 सीरियस
जालंधर

जालंधर.महितपुर की खुरमपुर कॉलोनी में वीरवार देर रात सिरफिरे आशिक ने अपनी प्रेमी के घर में आग लगा दी। इससे प्रेमिका, उसकी दो बेटियां जिंदा जल गईं जबकि पति और तीन बेटियां गंभीर रूप से झुलस गई हैं। उन्हें इलाज के लिए 

सिविल अस्पताल

 (जालंधर) में दाखिल करवाया गया है। उनकी बॉडी 55 फीसदी से झुलस चुकी है। इनकी हालत नाजुक बताई जा रही है।

डीएसपी दिलबाग सिंह ने कहा कि हरीपाल उर्फ राजू के खिलाफ कत्ल और इरादा-ए-कत्ल का केस दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है। कस्बा महितपुर की खुरमपुर कॉलोनी में वीरवार देर रात करीब 12 बजे उस समय सनसनी फैल गई जब ड्राइवर नसीब के घर में आग लगी देखी। अंदर नसीब औ उसकी फैमिली की चीखे सुनाई दे रही थी। किसी तरह से नसीब,उसकी पत्नी सोनिया,बेटी नेहा (11) प्रिया (8), वंदना (6), रहमत (4) और सानिया (डेढ़ साल) को निकाला। उनके शरीर बुरी तरह से झुलस चुके थे। नसीब ने लोगों को इतना ही कहा कि यह काम पड़ोस में रहते राजू ने किया है। महिला विंग की प्रधान कमलेश कौर की सूचना पर एसएचओ सनबीर सिंह मौके पर पहुंच गए। प्राथमिक इलाज के बाद सारी फैमिली को जालंधर में रैफर कर दिया।

जज को दिया स्टेटमेंट

नसीब ने जज को स्टेटमेंट दिया कि उसका पड़ोसी राजू उसकी पत्नी पर बुरी नजर रखता था। कुछ महीने पहले उसे अपना साथ ले गया था, पर एक हफ्ते पहले सोनिया घर लौट आई थी। इसके बाद पंचायत में राजीनामा हो गया था कि वह उसकी पत्नी से कोई रिश्ता नहीं रखेगा। नसीब ने बता कि दो दिन पहले झगड़ा हुआ था। वीरवार रात खाने के बाद सभी सो गए थे। गर्मी थी तो कमरे का दरवाजा बंद नहीं किया। उसकी आंख खुली तो देखा कि राजू आग लगा रहा है।

मैं उसे प्यार करता था मगर सोनिया ने साथ छोड़ दिया था

40 साल के हत्यारोपी हरीपाल उर्फ राजू ने माना कि सोनिया से उसका अफेयर था। वह सोनिया को पहले से चाहता था। सोनिया से बात न कर सके। सोनिया ने 12 साल पहले नसीब से शादी कर ली थी। नसीब की यह दूसरी शादी थी। दो साल पहले सोनिया को वह दौड़ा कर ले गया था। एक हफ्ता तक दोनों साथ रहे। फिर लौट आए। मामला पंचायत में पहुंच गया था तो फैसला हुआ था कि वह सोनिया से कोई रिश्ता नहीं रखेगा। राजू कहता है कि मामला सब को पता चला चुका था तो सोनिया ने उससे दूरी बनानी शुरू कर दी थी। अब नौबत तो यहां तक आ गई थी कि वह उसकी ओर देखती तक नहीं थी। दो दिन पहले

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations