20 PHOTOS में देखें पंचकूला में बाबा के समर्थकों का उत्पात, ऐसा था मंजर
चंडीगढ़

चंडीगढ़. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम (50) को सीबीआई कोर्ट ने शुक्रवार को यौन शोषण मामले में दोषी करार दिया। सजा का एलान 28 अगस्त को होगा। फैसले के बाद हरियाणा पुलिस ने राम रहीम को कस्टडी में ले लिया। कार्यवाही के दौरान केवल 7 लोग कोर्ट के भीतर मौजूद रहे। फैसला आने के बाद डेरा सपोर्टर्स ने पंजाब, हरियाणा में हिंसा की। जानिए, पंचकूला में क्या-क्या हुआ...

-ऑफिशियल्स के मुताबिक, पंचकूला में 28 लोगों की मौत हो गई और 250 से ज्यादा घायल हुए हैं। एक शख्स की मौत सिरसा में हुई है।

- पंचकूला में समर्थकों ने सैकड़ों गाड़ियां फूंक दीं, यहां कर्फ्यू लगा दिया गया है। हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ होकर जाने वाली 350 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं।

- राम रहीम को दोषी ठहराए जाने पर डेरा सच्चा सौदा ने बयान जारी कर कहा है कि जो भी हुआ, गलत है। हम फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे।

- हिंसा के बीच हरियाणा के सीम 

मनोहर लाल खट्टर

 ने कहा कि "कोई भी कानून से ऊपर नहीं है। कानून हाथ में लेने वालों के ऊपर सख्त कार्रवाई की जाएगी। लोगों से अपील है कि वो अफवाहों पर ध्यान ना दें और आपराधिक मानसिकता वाले लोगों से दूर रहें।'

- पंचकूला में एरियल सर्वे के लिए ड्रोन और हेलिकॉप्टर की मदद की गई। दिल्ली में बीजेपी ऑफिस की सिक्युरिटी बढ़ाई गई।

- हरियाणा के सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के हेडक्वार्टर पर समर्थकों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए, पानी की बौछार डाली गई। पंचकूला में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर आर्मी के हेलिकॉप्टर से नजर रखी गई।

क्या है मामला -

25 अगस्त 2017: सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम को दोषी करार दिया।

- 17 अगस्त 2017: मामले की बहस खत्म हुई।

- 25 जुलाई 2017: कोर्ट ने रोज सुनवाई करने के निर्देश दिए ताकि केस जल्द निपट सके।

- जून 2017: डेरा प्रमुख ने विदेश जाने के लिए अपील दायर की तो कोर्ट ने रोक लगा दी।

- जुलाई 2016: केस के दौरान 52 गवाह पेश हुए। इनमें 15 प्रॉसिक्यूशन और 37 डिफेंस के थे।

- 2011 से 2016: लंबा ट्रायल चला। डेरा मुखी की ओर से अपीलें दायर हुईं।

- अगस्त 2008: ट्रायल शुरू हुआ और डेरा मुखी के खिलाफ चार्ज तय किए गए।

- जुलाई 2007: सीबीआई ने अंबाला सीबीआई कोर्ट में चार्जशीट फाइल की। यहां से केस पंचकूला शिफ्ट हो गया और बताया गया कि डेरे में 1999 और 2001 में कुछ और साध्वियों का भी यौन शोषण हुआ, लेकिन वे मिल नहीं सकीं।

- दिसंबर 2003: सीबीआई को जांच के निर्देश दिए गए। 2005-2006 के बीच में सतीश डागर ने इन्वेस्टिगेशन की और उस साध्वी को ढूंढा जिसका यौन शोषण हुआ था।

- दिसंबर 2002: सीबीआई ब्रांच ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया। - मई 2002: लेटर के फैक्ट्स की जांच का जिम्मा सिरसा के सेशन जज को साैंपा गया।

- अप्रैल 2002ः पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तब के पीएम 

अटल बिहारी वाजपेयी

 को एक साध्वी ने शिकायत भेजी।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations