जुर्म के आधार पर तय होगी पुलिस थानों में नफरी, 1100 चौकियों पर होगी तैनाती
अलवर.

  • अलवर.गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि थानों में अब अपराध के आधार पर पुलिस की नफरी तय होगी। इसमें 250 अपराध वाले थाने “”सी’ श्रेणी में, 250 से 500 तक “”ब’ श्रेणी में और 500 से अधिक अपराध वाले थाने A श्रेणी में रखे गए हैं। गृहमंत्री कटारिया ने रविवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश में 1100 पुलिस चौकियों पर 6-1 की नफरी तय की गई है। इस कार्य में तीन महीने लगेंगे। पुलिस नफरी की पूर्ति के लिए 5500 पुलिसकर्मियों की भर्ती कर रहे हैं। पहले भी 12 हजार पुलिसकर्मियों को ट्रेनिंग देकर पोस्टिंग दी है।
    - अलवर में दो पुलिस अधीक्षक लगाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह प्रक्रिया अभी प्रोसेस में है और परमेश्वरी देवी कमेटी की रिपोर्ट में भी सुझाव आया है।
    - साधु-संतों पर लग रहे आरोपों के सवाल पर उन्होंने कहा कि कानून के सामने न तो साधु संत होता है और न राजनेता। न गरीब होता है और न अमीर। कानून का जो उल्लंघन करेगा, कानून उसके साथ सख्ती से पेश आएगा। प्रदेश में अपराध करने पर बड़े से बड़े आदमी के खिलाफ हमने कार्रवाई करने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। जनता इसकी गवाह है। अलवर में साधु के खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई की है। तीन दिन तक ड्रामे के सवाल पर उन्होंने कहा कि ड्रामे का समापन कितना अच्छा हुआ, हमने उसे जेल में डाला। इसे स्वीकार करना चाहिए। हमने अपनी ड्यूटी पूरी की।
    प्रदेश में 22 फीसद तक कम हुए अपराध
    गृहमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 2015 में आईपीसी अपराध में 5.6 फीसदी और 2016 में 9.8 फीसदी और अगस्त तक 6.6 फीसदी की कमी आई है। कुल अपराध में 21 से 22 फीसदी की कमी दर्ज की गई है। इसमें सभी हत्या, अपहरण, दहेज प्रताड़ना, लूट, दुष्कर्म सहित सभी तरह के अपराध शामिल हैं। एससी-एसटी एक्ट में 54 फीसदी की कमी है। संगीन अपराधों में 95 फीसदी अभियुक्तों को जेल तक पहुंचा दिया है। हार्ड कोर को क्रिमनल दो साल में अभियान चलाकर पकड़ा और जेल में डाला है। छोटी बच्चियों के साथ रेप के मामलों में 99 फीसदी अभियुक्त पकड़े ग

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations