सद्भाव व समरसता घाट बनेगा
वाराणसी में बनेगा बिस्मिल्लाह खां को समर्पित सद्भाव व समरसता घाट

भारत रत्न व पद्मविभूषण से सम्मानित प्रख्यात शहनाई वादक स्वर्गीय उस्ताद बिस्मिला खां को देश की सांस्कृतिक राजधानी माने जाने वाले वाराणसी में एक और बड़ा सम्मान मिलेगा। यहां पर उनको समर्पित सद्भाव व समरसता घाट बनेगा। 

इस घाट पर मुस्लिम बंधु शहनाई की तान पर गंगा की आरती करेंगे। इसका खाका आज संत चिदानंद मुनि के साथ ही शिया धर्मगुरु कल्बे सादिक ने खींचा है। संत चिदानंद मुनि कल शाम को वाराणसी पहुंचे थे। मुनिजी ने आज मणिकर्णिकाघाट के सामने मोरारी बापू के बजड़े से ही छठ उत्सव के बीच गिरिजा देवी की अंत्येष्टि देखी और श्रद्धांजलि दी। 

आज सुबह मानस मसान कथा के व्यासपीठ पर विराजमान मोरारी बापू को कल्प वृक्ष का पौधा भेंट किया। उन्होंने कहा कि अगली बार काशी आगमन पर गिरिजा देवी को समर्पित सांस्कृतिक संकुल में ठुमरी साम्राज्ञी के नाम पौधे लगाएंगे।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations