रुड़की के जगह ज्वालापुर पहुंच गए छात्र
राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति और राष्ट्रीय साधन सहयोग्यता छात्रवृत्ति परीक्षा केंद्र पर संशय होने से तमाम छात्रों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा

राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति और राष्ट्रीय साधन सहयोग्यता छात्रवृत्ति परीक्षा केंद्र पर संशय होने से तमाम छात्रों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। जिसके कारण कई छात्र देरी से परीक्षा केंद्र पर पहुंचे। हालांकि देरी से आने वाले छात्रों की परेशानी को देखते हुए उन्हें परीक्षा बैठने की अनुमति दे दी गई। परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई है।

जिले में रविवार को राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति और राष्ट्रीय साधन सहयोग्यता छात्रवृत्ति परीक्षा सभी ब्लॉकों में आयोजित की गई। रुड़की ब्लॉक में इस परीक्षा के लिए राजकीय इंटर कॉलेज रुड़की को परीक्षा केंद्र बनाया गया था। इस केंद्र पर राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति परीक्षा के लिए 443 और राष्ट्रीय साधन सहयोग्यता आदि छात्रवृत्ति परीक्षा के लिए 129 छात्र-छात्राओं को पंजीकृत किया गया था। परीक्षा अपने निर्धारित समय पर शुरू हुई। परीक्षा केंद्र पर उस समय अजीबोगरीब स्थिति उत्पन्न हो गई जब पतंजलि योगपीठ के आचार्यकुलम स्कूल की एक बस 65 छात्रों को लेकर राजकीय इंटर कॉलेज पहुंची।

उस समय परीक्षा को शुरू हुए करीब आधा घंटा बीत चुका था। छात्र के साथ विद्यालय के डायरेक्टर एलआर सैनी भी साथ थे। समय अधिक होने जाने की वजह से केंद्र व्यवस्थापक ने बच्चों को पहले तो परीक्षा में बैठाने से इन्कार कर दिया लेकिन आचार्यकुलम स्कूल के डायरेक्टर एलआर सैनी ने बताया कि उन्होंने अपने स्कूल के बच्चों के लिए ज्वालापुर स्थित जीजीआइसी लिखा था लेकिन जब वह केंद्र पर बच्चों को लेकर पहुंचे तो वहां जाकर पता चला कि उनके बच्चों का परीक्षा केंद्र रुड़की में राजकीय इंटर कॉलेज को बनाया गया है। वह तुरंत ही सभी 65 बच्चों को परीक्षा दिलाने के लिए रुड़की आए। रुड़की पहुंचने पर उन्हें करीब 40 मिनट लगे। इसी तरह से कुछ और छात्रों को भी परीक्षा केंद्र को लेकर समस्या आई। वह भी देरी से पहुंचे। आचार्यकुलम स्कूल के डायरेक्टर आरएल सैनी का कहना है कि फार्म भरते समय परीक्षा केंद्र का विकल्प पूछा गया था। जिस पर उनके स्कूल के बच्चों ने जीजीआइसी ज्वालापुर डाला था। यदि केंद्र जीआइसी रुड़की हो गया था तो इसकी पूर्व सूचना में दी जानी चाहिए थी। केंद्र व्यवस्थापक एवं प्रधानाचार्य जेएस नेगी ने बताया कि ब्लॉक रुड़की का परीक्षा केंद्र राजकीय इंटर कॉलेज को बनाया गया था। कुछ छात्र जानकारी के अभाव में ज्वालापुर चले गए थे। जब वह केंद्र पर आए तो उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति दे दी गई।

परीक्षा में 123 छात्र रहे अनुपस्थित

ब्लॉक रुड़की के राजकीय इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र में राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति और राष्ट्रीय साधन सहयोग्यता छात्रवृत्ति आदि की परीक्षा में 123 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित रहे। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति परीक्षा के लिए 443 छात्र पंजीकृत थे। जिसमें से पहली पाली में 83 और इसी परीक्षा की दूसरी पाली में 85 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित रहे। जबकि राष्ट्रीय साधन सहयोग्यता आदि छात्रवृत्ति परीक्षा के लिए 129 छात्र-छात्राएं पंजीकृत थे। जिसमें से 38 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित रहे। परीक्षा दो पालियों में हुई।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations