कांग्रेस पार्टी ने किया दावा, भाजपा विधायक डालेंगे नोटा में वोट
अहमदाबाद.

अहमदाबाद.कांग्रेस पार्टी ने दावा किया कि गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा के लगभग 24 विधायक आगामी आठ अगस्त को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए होने वाले चुनाव में नोटा (इनमें से कोई नहीं) का विकल्प चुन कर पार्टी की किरकिरी करा सकते हैं।

रास चुनाव में भाजपा अध्यक्ष 

अमित शाह

 के अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए बलवंतसिंह राजपूत उम्मीदवार हैं। कांग्रेस की ओर से 

सोनिया गांधी

 के राजनीतिक सलाहकार 

अहमद पटेल

 भी प्रत्याशी हैं।

- पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता मनीष दोषी ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी ने कानूनी कारणों से नोटा को हटाने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था (सुप्रीम कोर्ट ने इसे आज खारिज कर दिया) पर भाजपा ने पहले नोटा की वैधता को लेकर खूब बयानबाजी की और बाद में इसी आशंका में इसे हटाने के लिए चुनाव आयोग की शरण में पहुंच गई। इस बार जिन विधायकों को भाजपा विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं देगी अथवा अन्य कारणों से नाराज 24 विधायक नोटा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अमित शाह और स्मृति ईरानी की जीत तय

- 182 सदस्यों की विधानसभा में भाजपा के पास एक बागी समेत 122 सीटें हैं। अमित शाह और स्मृति ईरानी की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है। तीसरी सीट के लिए ही टक्कर है। हालांकि कांग्रेस अहमद पटेल के पास जीत के लिए जरूरी 45 से अधिक का आंकड़ा होने का दावा कर रही है।

- इसके 51 में से 44 विधायक बैंगलुरू के एक रिसॉर्ट में रखे गए हैं। राकांपा के दो और जदयू के एक मात्र विधायक ने भी उन्हें समर्थन देने की बात कही है।

बैलेट पेपर से होगा चुनाव

- बैलेट पेपर में अहमद पटेल पहले क्रम पर हैं। जबकि बलवंतसिह राजपूत, अमित शाह और स्मृति ईरानी दूसरे, तीसरे और चौथे क्रम में हैं। पांचवें क्रम में नोटा है। निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए विशेष पेन से विधायक उम्मीदवारों को 1,2, 3 इस प्रकार से क्रम से मतदान कर सकेंगे।

- मतदान करने के बाद विधायक पार्टी के पोलिंग एजेंट को अपना बैलेट पेपर दिखा सकेंगे। राज्य सभा चुनाव की वीडियो रिकार्डिंग भी होगी। गांधीनगर के स्वर्णिम संकुल में राज्य सभा चुनाव के दौरान कड़ी सुरक्षा तैनात की जाएगी।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations