करनाल किसान महापंचायत को सफल बनाने के लिए खाट पंचायतों का सिलसिला
मेयर रेणू की शहर के सौंदर्यकरण की शुरूआत

डी-प्लान के तहत अलॉट बजट को विकास कार्यों के लिए हर हालत में खर्च करे: कमल

करनाल। मुख्य संसदीय सचिव डा. कमल गुप्ता ने जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि डी-प्लान के तहत अलॉट बजट को विकास कार्यों के लिए हर हालत में खर्च करें, निर्धारित समय-अवधि 15 फरवरी तक  विकास कार्य पूरे करवाएं। विकास के जो कार्य चल रहे हैं उनको पूरा करने के लिए तीव्रता लाएं । सीपीएस जिला विकास एवं निगरानी कमेटी की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस मौके पर जिला में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा भी की तथा डी-प्लान के तहत ऐसे  कुछ कार्यों को बदलने की भी स्वीकृति भी प्रदान की जो फिजिबल  नहीं थे। इस मौके पर डीसी मंदीप सिंह बराड़, एडीसी डा० प्रियंका सोनी सहित सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे विकास के कार्यों में और तेजी लाते हुए विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाएं। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त डा. प्रियंका सोनी ने बताया कि वर्ष 2016-17 के लिए डी-प्लान के तहत जिला में विकास  कार्यों के लिए 11 करोड़ 87 लाख रूपये की राशि प्राप्त हुई थी, इस राशि से 497 कार्य करवाए जाने हैं जिनमें से 129 कार्य पूरे हो चुके हैं तथा 295 कार्य प्रगति पर हैं।

इस अवसर पर मेयर रेनू बाला गुप्ता, एसपी जशनदीप सिंह रंधावा, नगरनिगम के आयुक्त आदित्य दहिया, एसडीएम योगेश कुमार, एसडीएम अश्विनी मलिक, एसडीएम सुशील मलिक, योजना अधिकारी संगीता मेहता सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

-----------------------------------

मेयर रेणू की शहर के सौंदर्यकरण की शुरूआत

करनाल। शहर के सौंदर्यकरण के लिए नगर निगम द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बीच आज एक अच्छी शुरूआत हुई। मेयर रेनू बाला गुप्ता ने स्थानीय वन विभाग के सामने रेलवे रोड़ के सुदृढ़ीकरण कार्य का, एक नागरिक से नारियल तुड़वाकर शुभारम्भ किया। इस कार्य पर 27 लाख 26 हजार रूपये की राशि खर्च होगी तथा जेण्के कन्सट्रक्षन निर्माण एजेंसी अगले 2 महीनों में इसे पूरा करेगी। इस अवसर पर वार्ड.12 के चमन गार्डन तथा रेलवे रोड़ क्षेत्र से आए नागरिकों की समस्याएं सुनते हुए मेयर ने बताया कि रेलवे रोड़ शहर की सबसे पुरानी और व्यस्त सडक़ है। सडक़ों में एक तरह से यह नागरिकों की लाईफ लाईन है, क्योंकि  प्रतिदिन हजारों लोगों का इस सडक़ पर आवागमन रहता है। लेकिन काफी दिनों से इसके रखरखाव की जरूरत हो गई थी, इसे संवारने के लिए आज से यहां काम शुरू हो गया है। इसके लिए उन्होने चमन गार्डन, रेलवे रोड़ व इसके आसपास के सभी नागरिकों को बधाई दी। उन्होंने बताया कि इस सडक़ के सौंदर्यकरण के तहत सडक़ के सैंट्रल वजऱ् के दोनो ओर कर्ब स्टोन फिक्स करके बीच में सीमेंट कंक्रीट के उपर रंगीन चैकर टाईलें लगाई जांएगी। वन विभाग के कार्यालय के आगे से लेकर पुराने तांगा स्टैण्ड तक करीब 2 किलोमीटर तक यह कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके बाद सैंट्रल वजऱ् पर खूबसूरत पौधे लगाए जांएगे, तत्पश्चात सडक़ की कारपैटिंग की जाएगीए जिस पर करीब 50 लाख रूपये की राषि खर्च होने का अनुमान है।

-----------------------------------------------

किसान महापंचायत को सफल बनाने के लिए खाट पंचायतों का सिलसिला जारी

करनाल। दहाड़ किसान महापंचायत को सफल बनाने के लिए गांव गांव में खाट पंचायत करने का सिलसिला जारी है। खाट पंचायतों के माध्यम से किसानों को कर्ज मुक्ति दिलवाने तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करवाने के पक्ष में किसानों को जागरूक किया जा रहा है। गत दिनों गांव गांव में भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले निकाली गई कर्ज मुक्ति यात्रा के बाद खाट पंचायतों को भारी सफलता मिल रही है।

गांव कतलाहेड़ी में सोमवार को आयोजित की गई खाट पंचायत की अगुवाई गांव की भाकियू इकाई के अध्यक्ष रणबीर सिंह कतलाहेडी व प्रचार मंत्री खेम सिंह राणा ने की। इस दौरान किसानों ने सरकार विरोधी नारेबाजी करके 3 मार्च को करनाल में आयोजित की जा रही प्रदेश स्तरीय दहाड़ किसान महापंचायत को सफल बनाने के लिए जोरदार सर्मथन भी दिया। पंचायत में उपस्थित किसानों ने अपनी आवाज को बुलंद्व करते हुए नारा लगाया कि जो किसान को कर्ज मुक्त करेगा अब वो ही देश पर राज करेगा।

खाट पंचायत को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष रतनमान ने कहा कि किसानों के कर्ज मुक्ति के दिन अब वो दिन दूर नही जब किसान आर्थिक तौर पर आजाद होकर एक बार खुली हवा में सांस लेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने के साथ साथ किसान मजदूर को कर्ज मुक्त करने के लिए आगे आना पड़ेगा। इसके लिए किसान लामबंद्व होकर आंदोलन के लिए आगे बढ़ रहे है।

---------------------------------

शहीद भगत सिंह की प्रतिमा की सुध लेने की अपील

करनाल। एक जमाने में शहीद-ए-आजम भगत सिंह की माता जी के हाथों से अनावरण होने वाली कर्ण पार्क में स्थित शहीद भगत सिंह की प्रतिमा अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है, प्रतिमा पर लगी जानकारी अधूरी व गलत है, प्रतिमा बुरी तरह से खंडित हो चुकी है। जब भगत सिंह की ये प्रतिमा लगाई गई थी तब सही एवं पूर्ण जानकारी प्रतिमा पर छापी गई थी, लेकिन 2005 में अपनी राजनीति को चमकाने के लिए उस समय के नगर परिषद अध्यक्ष बलविंद्र कालड़ा ने प्रतिमा पर लगे शहीद भगत सिंह की माता जी के जानकारी पट्ट को उतार कर अपने नाम का पट्ट भगत सिंह से संबंधित गलत जानकारी को लेकर लगा दिया। इस समय प्रतिमा पर लगी पट्टिका में भगत सिंह का जन्म स्थल लायरपुर लिखा हुआ है जबकि उनका जनम लायलपुर में हुआ था।

प्रतिमा रक्षा सम्मान समिति कब से इस प्रतिमा के नवीनीकरण करवाने के लिए नगर निगम के चक्कर लगा रही है कि समिति द्वारा प्रतिमा का नवीनीकरण करवाया जा सके व उस पर लिखित गलत जानकारी को सही कर दोबारा से भगत सिंह की माता जी द्वारा प्रतिमा के अनावरण करने की जानकारी नाम पट्टी पर लगाया जा सके, लेकिन जब प्रतिमा रक्षा सम्मान समिति के अध्यक्ष नरेंद्र अरोड़ा ने नगर निगम के ई ओ धीरज कुमार को मिलकर पत्र सौंप कर प्रतिमा के समिति द्वारा नवीनीकरण के लिए आवेदन किया तो उन्होंने कहा कि आप इस प्रतिमा का नवीनीकरण नहीं करवा सकते और जब नरेंद्र अरोड़ा ने कहा कि नगर निगम प्रतिमा का नवीनीकरण करवाए तो धीरज कुमार ने कहा कि पार्षदों की बैठक में प्रस्ताव रखा जाएगा तब देखेंगे। नगर निगम का कहने का तातपर्य ये है कि न प्रतिमा का नवीनीकरण करवाएंगे ना ही करने देंगे।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations